अपनी सेक्सी भांजी को मैंने चोद दिया

Discussion in 'Hindi Sex Stories' started by sexstories, Apr 1, 2018.

  1. sexstories

    sexstories Administrator Staff Member

    जब मैं नहा कर आया तो मैने देखा कि मेरा फ़ोन वहीं पड़ा है और नीलू वहां नहीं है। तो मैंने अपना फ़ोन चेक किया तो पाया कि उसमें रिसेंट ऐप्स में पोर्न लगी हुई थी. उसे देख कर मुझे लगा कि अब काम बन गया. फिर उस दिन मैंने कुछ और ट्राई नहीं किया. फिर अगले दिन कुछ ऐसा हुआ जिससे उसे चोदने की मेरी ख्वाइश पूरी हो गयी…

    नमस्कार दोस्तों! मेरा नाम राज है और मैं हिमाचल का रहने वाला हूँ. यह मेरी पहली कहानी है. अगर कोई गलती होगी तो जाए माफ़ करना. ये एक सच्ची कहानी है.

    बात तब की है जब मेरे कॉलेज में छुटियाँ हुई थी. उस समय मैं अपनी दादी के घर, परिवार के साथ छुटियाँ मनाने गया था. उस समय वहां मेरी चचेरी दीदी भी आई हुई थी. उनके साथ उनकी 18 साल की बेटी भी आई हुई थी. उसका नाम नीलू था.

    उस दिन मैं उससे काफी समय बाद मिल रहा था. अब उसका जिस्म काफी सेक्सी हो गया था. उसके बूब्स काफी बड़े हो गए थे और गांड भी काफी बाहर आ गयी थी. जब मैंने उसे देखा तो देखता ही रह गया पर उस समय मेरे मन में कोई भी गलत ख्याल नहीं था. उस दिन तो नार्मल पारिवारिक माहौल में हमारे बीच हंसी मज़ाक हुआ और बातें करते – करते हम अपने – अपने कमरे में जा कर सो गए.

    अगले दिन जब मैं उठ कर बाथरूम की तरफ जाने लगा तो उसी समय वह नहा कर बाहर निकली थी और उसने अपने शरीर पर टॉवल लपेटा हुआ था. वो एक दम माल लग रही थी. उसे ऐसे देख कर मेरा मन हुआ कि अभी टॉवल निकाल के उसके चूचियां चूस लूँ. मैं कुछ कर नहीं सकता था लेकिन मैं लगातार उसकी तरफ ही देखता रहा तो वो मुझे पूछ बैठी, ‘क्या देख रहे हो?’

    अब मैं डर गया और बोला कि कुछ नहीं तो वो मुझे अजीब सी स्माइल दे कर चली गयी. तब से मेरे मन में अजीब – अजीब से ख्याल आने लगे थे और अब मैं सोचने लगा था कि इसे कैसे चोदा जाए.

    फिर रात को हम दोनों बैठ के टीवी देख रहे थे तो एचबीओ पर एक इंग्लिश मूवी आ रही थी. जिसमें एक न्यूड सीन आ रहा था तो उसको देखते ही मैंने चैनल चेंज कर दिया तो वो बोली – चैनल चेंज क्यों किया?

    तो फिर मैंने वही चैनल लगा दिया. फिर सीन के खत्म होते ही वो बोली कि मैं अभी आती हूँ और फिर वह उठ के चली गयी. मुझे कुछ अजीब सा लगा तो मैं भी उसके पीछे गया तो देखा कि वो सीधा बाथरूम में घुस गई. मैं समझ गया कि इस सीन को देख कर वो गर्म हो गयी है और अंदर अपनी चूत मैं ऊँगली कर रही होगी.

    अब मैं वापस आ गया और टीवी देखने लगा. फिर कुछ देर बाद वो भी आ गयी और साथ में बैठ कर टीवी देखने लगी. जब मैंने उससे पूछा कि कहाँ गयी थी? तो वो बोली कि पानी पीने गयी थी. फिर कुछ देर बाद हम दोनों उठ कर अपने – अपने कमरे में सोने चले गए. मैं पूरी रात उसको चोदने के बारे में ही सोचता रहा. मैंने सोचा कि कुछ ना कुछ ट्राई तो किया ही जाएगा शायद बात बन ही जाए.

    अगले दिन मैं उठा तो वो बाहर खड़े हो कर अपने गीले बाल सुख रही थी. उस समय उसने एक टाइट सी कैप्री और एक सेक्सी टॉप पहना हुआ था. उसे देख कर मैंने कहा – आज तुम बहुत सेक्सी लग रही हो. तुम पर तो बहुत से लड़के मारते होंगे न?

    तो वो बोली – क्यों मज़ाक कर रहा हो!

    तो मैं बोला – मैं मज़ाक नहीं कर रहा हूँ, मैं सच बोल रहा हूँ.

    तो वो मेरी तरफ देख कर मुस्कुराई और फिर अंदर चली गयी. फिर दिन को मैंने अपने फ़ोन का लॉक खोल कर उसके पास रख दिया और नहाने चला गया. दोस्तों, मेरे फ़ोन में काफी पोर्न होता है और इसीलिए मैं हमेशा अपने फ़ोन में लॉक लगा के रखता हूं.

    जब मैं नहा कर आया तो मैने देखा कि मेरा फ़ोन वहीं पड़ा है और नीलू वहां नहीं है। तो मैंने अपना फ़ोन चेक किया तो पाया कि उसमें रिसेंट ऐप्स में पोर्न लगी हुई थी. उसे देख कर मुझे लगा कि अब काम बन गया. फिर उस दिन मैंने कुछ और ट्राई नहीं किया. फिर अगले दिन कुछ ऐसा हुआ जिससे उसे चोदने की मेरी ख्वाइश पूरी हो गयी.

    अगले दिन दोपहर को मेरे पापा ने मुझे बुलाया और कहा कि हमारे किसी रिश्तेदार की मौत हो गयी है तो हमें 3-4 दिन तक के लिए वहां जाना पड़ेगा और तुम्हें दादी के साथ यहीं रहना पड़ेगा. क्योंकि मेरी दादी ट्रैवेल नहीं करती थी. यह सुन कर मैं उदास हो गया.

    फिर मेरी दीदी ने कहा कि नीलू भी तुम्हारे साथ यहीं रुक जाएगी. अब तो मेरी ख़ुशी का ठिकाना ही नहीं रहा. मैंने सोचा कि अब तो कैसे भी करके काम बनाना ही है. तो मैंने अपने लपटोप में कुछ पोर्न और कुछ हॉलीवुड की एडल्ट मूवीज डाउनलोड कर ली और फिर रात को खाना खाने के बाद मेरी दादी सोने चले गईं.

    अब घर में सिर्फ मैं और नीलू ही जग रहे थे. तो मैंने उसे कहा कि चलो मूवी देखते हैं तो वो बोली ठीक है और फिर मैंने ’50 शेड्स ऑफ ग्रे’ मूवी चला दी. इसमें जब भी सेक्स सीन्स आते तो वो उन्हें बड़े ध्यान से देखने लगी. अब धीरे से मैंने उसकी टांगों पर अपना हाथ रख दिया और सहलाने लगा.

    जिससे वो गर्म होने लगी और गर्म – गर्म सांसे लेने लगी. फिर मैंने अपना हाथ हटा दिया तो वो मेरी तरफ अजीब सी नज़रों से देखने लगी. यह देख कर मैंने उसे कहा कि अब तुम सो जाओ मुझे लैपटॉप पर कुछ देखना है. तो वो बोली – अकेले क्या देखना है?

    तो मैंने कहा – मुझे पोर्न देखना है.

    इस पर वो बोली कि मैं भी देखूंगी. तो मैंने कहा ठीक है और फिर मैंने लैपटॉप पर पोर्न मूवी लगा दी. अब हम दोनों साथ मिल कर पॉर्न देखने लगे. थोड़ी देर बाद मैंने धीरे – धीरे फिर से उसकी जांघों को रब करने लगा. जिससे वो फिर गर्म – गर्म सांसे लेने लगी. फिर मैंने धीरे – धीरे अपना हाथ उसकी चूत की तरफ बढ़ाया और उसकी चूत पर कपड़े की ऊपर से ही हाथ लगा दिया तो मैंने पाया कि उसकी चूत बिलकुल गीली हो चुकी थी.

    यह देख कर मैंने उससे पूछा – तुमने कभी किसी के साथ सेक्स किया है?

    तो वो बोली – नहीं.

    फिर मैंने पुछा – मन है करने का?

    तो वो बोली – मन तो बहुत है पर डरती हूँ कि कहीं कुछ हो ना जाए.

    तो मैंने कहा कि डरो मत कुछ नहीं होगा. अब वो कुछ नहीं बोली। तो मैं समझ गया कि अब मौका है. फिर मैं धीरे से उसकी तरफ बढ़ गया और फिर उसकी गर्दन पर एक किस किया तो उसके मुंह से आह निकल गयी.
     
  2. sexstories

    sexstories Administrator Staff Member

    अब मैं उसके होंठो पर किस करने लगा तो वो भी मेरा साथ देने लगी. अब उसने अपनी आंखें बंद कर ली थी. मैं कभी उसके लिप्स पर किस करता कभी उसकी छाती पर और तो कभी उसके गले पर. उसे भी मज़ा आ था और वो सिसकारियां भर रही थी.

    फिर मैंने उसे बेड पर लेटा दिया और उसके 34 के साइज के बूब्स दबाना शुरू कर दिया. मुझे सच में बड़ा मजा आ रहा था. फिर मैंने धीरे – धीरे उनका टॉप निकाल दिया और ब्रा के ऊपर से उसके बूब्स पर किस करने लगा और साथ ही उन्हें दबाने लगा और वो बस अपनी आँखे बंद करके सेक्सी आवाजें निकाल रही थी.

    फिर मैंने उसकी पैंटी भी निकाल दी और खुद की भी टी – शर्ट निकाल दी. फिर मैंने उसकी चूत पर पेंटी के ऊपर से ही किस किया तो वो एक दम से हिल गयी. फिर मैंने उसकी ब्रा उतार दी और उसके नंगे बूब्स चूसने लगा और अपना एक हाथ उसकी पैंटी के अंदर डाल कर उसकी चूत सहलाने लगा. जिससे वो :आह आह’ की सेक्सी आवाजें निकाल रही थी.

    फिर मैंने धीरे से उसकी पैंटी भी निकाल दी और उसकी चूत चाटने लगा. तो उसने अपना हाथ मेरे सर पर रखा और जोर देकर दबाने लगी. इधर मैं करीब 5 मिनट तक उसकी चूत चाटता रहा. कुछ देर बाद वो झड़ गयी थी और मैं उसका सारा पानी पी गया था.

    फिर मैंने धीरे से उसके गले पर किस किया और उसे मेरा लंड चूसने को बोला तो वो मना करने लगी. लेकिन मेरे बार – बार कहने पर वो मान गयी और मेरा लन्ड चूसने लगी. थोड़ी देर की चुसाई के बाद उसे भी मज़ा आने लगा और वह जल्दी – जल्दी मेरा लन्ड चूसने लगी. कुछ देर बाद मैं भी झड़ गया और वो भी मेरा सारा माल पी गयी और फिर लेट बेड पर गयी.

    अब मैं फिर उसके बूब्स चूसने लगा और उसकी चूत में ऊँगली करने लगा. कुछ देर बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और मैंने उसकी कमर के नीचे तकिया रखा और उसकी चूत पर अपना लंड रगड़ने लगा. जिस पर वो बोली कि धीरे से करना तो मैंने हां में सिर हिलाया.

    फिर मैं धीरे से उसकी चूत में लंड डालने लगा. उसकी चूत बहुत टाइट थी. फिर मैंने एक जोर का झटका मारा और मेरा आधा लंड उसकी चूत में घुस गया और दर्द की वजह से वो रोने लगी. अब मैं उसके लिप्स पर किस करने लगा और उसके बूब्स सहलाने लगा. कुछ देर बाद वो नार्मल हुई तो मैं धीरे – धीरे अपना लन्ड अंदर बाहर करने लगा.

    थोड़ी देर बाद मैंने एक और शॉट मारा और मेरा पूरा लंड उसकी चूत की गहराई में समा गया और वो और फिर से छटपटाने लगी तो मैं उसके बूब्स को सहलाने लगा और उसकी गर्दन और होंठों पर किस करने लगा. फिर वो बोली कि अब धीरे – धीरे करना तो मैं बोला – जान, अब तो मज़ा ही मज़ा आएगा.

    अब मैं धीरे – धीरे उसे चोदने लगा. तो वो भी मज़ा लेने लगी और ‘आह आह सीईई’ जैसी सेक्सी आवाजें निकालने लगी और अपनी गांड उचका – उचका के चुदवाने लगी. कुछ देर बाद वो जोर की आवाजें निकालने लगी और मुझे कस के पकड़ लिया. जिससे मुझे पता लग गया कि ये झड़ने वाली है तो मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और थोड़ी देर बाद वो झड़ गयी. फिर 10 मिनट बाद मैं भी उसकी चूत में ही झड़ गया और उसके साथ ही बगल में लेट गया और सो गया.

    अगले दिन जब मैं उठा तो मैंने देखा कि नीलू बिस्तर पर नहीं थी. जब मैं अपने कमरे से बाहर गया तो मैंने देखा कि वो चाय बना रही थी तो मैं पीछे से गया और उसके गले पर किस किया तो वो बोली कि दादी आ जाएंगी, अब आप नहा लो. तब तक मैं ब्रेकफास्ट बना देती हूं.

    तो मैंने कहा – दादी, अपने रूम से बाहर नहीं आएंगी इसलिए हम दोनों साथ में ही नहाएंगे.

    फिर मैंने उसे गोद में उठाया और बाथरूम में ले गया. फिर मैंने धीरे से उसे गोद से नीचे उतारा और उसके कपड़े उतारने लगा और उसे पूरा नंगा कर दिया. फिर मैंने उसे मेरे कपड़े उतारने को कहा तो उसने मेरे कपड़े भी उतार दिए. फिर मैंने शॉवर चालू कर दिया. जिससे पानी गिरने लगा और उसके नर्म गोरे जिस्म पर पानी एकदम मोती की तरह लग रहा था.

    फिर मैंने उसे फर्श पर लेटाया और उसकी चूत को चाटना शुरू किया. बहुत मज़ा आ रहा था. नीचे मैं उसकी चूत चाट रहा था और ऊपर से पानी की बूंदे गिर रही थी. मुझे एक दम स्वर्ग जैसा महसूस हो रहा था. फिर मैंने उसे अपना लंड चूसने को बोला तो वो बिना कुछ कहे चूसने लगी.

    कुछ देर बाद जैसे ही मैं उसे चोदने लगा तो दादी ने उसे आवाज लगा कर चाय लाने को कहा. तो वो हंसने लगी और मुझे बड़ा गुस्सा आया. फिर उसने अपने कपड़े पहने और बाहर चली गयी और मैं नहाने लगा.

    इस दौरान मैंने ये नोटिस किया था कि वो लड़खड़ा के चल रही थी. नहाने के बाद मैं बाहर आया और फिर हमने खाना खाया और उसके बाद मैंने उसे कहा कि अब तुम आराम करो बर्तन मैं साफ़ कर दूंगा तो उसने मेरे होंठ पर एक किस किया और मेरे रूम में चली गयी.

    कुछ देर बाद जब मैं अपने रूम में गया तो मैंने देखा कि वो बेड पर ब्रा और पेंटी पहन के लेटी हुई थी. ऐसे में वो एक दम सेक्सी एक अप्सरा की तरह लग रही थी. अब मैं उसके पास गया और तो उसने मेरा हाथ पकड़ कर खींच लिया और मुझे लेटा कर मेरे ऊपर आ गयी और मेरे कपड़े उतारने लगी.

    फिर उसने मेरा लंड हाथ में ले लिया और उसके साथ खेलने लगी और चूसने लगी. फिर वो मेरा लंड चूसती रही और थोड़ी देर बाद मैं उसके मुंह में ही झड़ गया और वो मेरा सारा पानी पी गयी. फिर मैंने उसे उठाया और उसकी ब्रा और पैंटी दोनों को उतार दिया और उसके बूब्स के साथ खेलने लगा और उसकी चूत को भी चाटने लगा.

    अब वो सिसकारियां लेने लगी थी. उसके मुंह से बहुत ही सेक्सी आवाजें निकल रही थीं, जिससे मेरा जोश और बढ़ रहा था. फिर कुछ देर बाद वो भी झड़ गयी और मैंने उसका सारा पानी पी लिया. फिर मैंने उसे कहा कि आज मुझे तुम्हारी गांड मारनी है तो वो बोली कि नहीं, उसमें बहुत दर्द होगा, रहने दो.

    फिर मैंने उसे समझाया कि पहले दर्द होगा लेकिन फिर बहुत मज़ा आएगा तो वो मान गयी. तो मैंने उसे डॉगी स्टाइल में किया और उसकी गांड में अपना लंड डालने लगा. उसे बहुत दर्द हो रहा था तो थोड़ा सा डालने के बाद मैं धीरे – धीरे अंदर – बाहर करने लगा.

    अब उसे मज़ा आने लगा तो मैंने एक ज़ोर का शॉट मारा और पूरा लन्ड उसकी गांड में घुस गया. जिससे उसे दर्द हुआ और वो ज़ोर से चीखने लगी तो मैंने हाथ से उसका मुंह बन्द कर दिया और थोड़ी देर उसके पीछे से बूब्स दबाने लगा और उसकी पीठ पर किस करने लगा. अब कुछ देर बाद वो नार्मल हुई तो मैं अपना लंड उसकी गांड में अंदर बाहर करने लगा.

    फिर मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और वो सेक्सी आवाजें निकाल रही थी. अब पूरे कमरे में पट – पट की आवाजें गूंज रही थी. फिर मैंने उसे उठाया और खुद लेट कर उसे अपने ऊपर लाकर चोदने लगा साथ ही मैं उसे किस भी कर रहा था और उसके बूब्स भी चूस रहा था.

    करीब 25 मिनट की चुदाई के बाद मैं उसकी गांड में ही झड़ गया और फिर वो सीधी होकर मेरे उपर ही लेट गयी. फिर मैं उसके बाथरूम में ले गया और अपना छूटा हुआ चुदाई का काम पूरा किया.

    फिर अगले 2 दिन तक हम हर वक्त चुदाई ही करते रहे. फिर वो अपनी माँ के साथ अपने घर चली गयी. आगे मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने उसकी एक दोस्त को भी चोदा.
     
Loading...