Bade Bade Chuchon Vali Meri Chacheri Behan

Discussion in 'Hindi Sex Stories' started by sexstories, Nov 7, 2017.

  1. sexstories

    sexstories Administrator Staff Member

    आप सबको नमस्कार, मेरा नाम कृष्णा है और मैं नागपुर महाराष्ट्र से हूँ. मैं अन्तर्वासना का एक नियमित पाठक हूँ. यहाँ की कहानी पढ़कर जो इन्सिडेंट मेरे साथ हुआ, मैं वो आप सबसे शेयर करना चाहता हूँ.

    मेरी उम्र 23 साल है और मैं इंजीनियर हूँ. ये सेक्स स्टोरी मेरी और मेरे चाचा की लड़की की है, जिसका नाम शिवानी है. वो भी इंजीनियर है. वो मुझे बचपन से ही बहुत अच्छी लगती थी. उसकी उम्र 21 साल है.

    शिवानी थोड़ी मोटी है, उसकी साइज़ 34-36-40 है. वो दिखने में बड़ी क्यूट है. उसके मम्मों की साइज़ बहुत बड़ी है, जो मुझे बेहद पसंद है. मुझे उसकी उछलती गांड भी बहुत पसंद है जो कि 40 साइज़ की है.

    शिवानी मुझे बचपन से ही बहुत अच्छी लगती थी. हम सब काम साथ में करते थे. जब से मुझे सेक्स के बारे में समझ आने लगी, तब से तो मैं उसे और चाहने लगा. बचपन में मैं उसके साथ एक बार सोया था और एकदम से उस पे चढ़ गया और कमर हिलाने लगा था. उसे उस वक्त कुछ समझ नहीं आया था और वो भी हंसने लगी. तभी उसकी मम्मी ने मुझे देखा और एक थप्पड़ लगा कर उसे ले गईं.

    उस दिन से मुझे वो और भी पसंद आने लगी. उसकी बढ़ती उम्र के साथ वो और सेक्सी दिखने लगी. मेरा उस वक्त का छोटा सा का लंड, बड़ा सा होने लगा.

    ऐसे ही हम साथ में बढ़ने लगे.. पर कुछ साल बाद हम अपने नए घर में शिफ्ट हो गए और वो लोग पुराने घर में ही रुक गए. लेकिन मैं रोज स्कूल से आने के बाद चाचा के घर जाता, उससे मिलने जाता और टाइम मिलते ही उसके कमरे से उसकी ब्रा को ले कर चाटता या लैट्रीन का बहाना करके बाथरूम में जाकर उसके पेंटी की स्मेल लेता या ब्रा को चूसता और आखिरी में ब्रा-पेंटी दोनों पर मेरे लंड का जूस डाल देता.

    जैसे शिवानी बड़ी होने लगी, वैसे ही और सेक्सी दिखने लगी. अब तो मुझसे उसको देख कर जरा भी रहा नहीं जाता था.

    एक दिन मेरे अंकल की चुनावी ड्यूटी लग गई और आंटी मामा के यहाँ गई हुई थीं, उधर कोई बीमार था. मुझे उनके यहाँ सोने को बुलाया गया. मैं रात को दस बजे गया. उस वक्त घर में शिवानी थी और उससे छोटी बहन भी थी. शिवानी ने नाइटी पहनी हुई थी, जिसमें से उसके 34 के चूचे 40 के माफिक दिख रहे थे और गांड 50 की. मेरा मन कर रहा था कि इसकी टी-शर्ट फाड़ कर चूचों को बंधन से मुक्त कर दूँ और सारी रात दूध पीता रहूँ और इसकी गांड मारता रहूँ. पर मैंने खुद पर कंट्रोल किया और उसे देख कर मुस्कुरा दिया.

    उसने मेरे लिए नीचे बिस्तर लगाया और खुद बिस्तर पर सोने चली गई. मैं बिस्तर पर लेट गया और उसकी तरफ देखने लगा. मैं अपने मन में उसको फील करने लगा. उसके साथ बिस्तर पर उसकी छोटी बहन भी सोई थी. मुझे रात में नींद नहीं आ रही थी. मैं उसके बारे में ही सोच रहा था, तभी मैंने रात को जब शिवानी बहुत गहरी नींद में थी.. उसको देखने लगा.

    मैं उसके पास बिस्तर पर जाकर बैठ गया और उसे देखने लगा. बहुत हिम्मत करके मैंने उसके कमर को टच किया. कोई विरोध नहीं हुआ तो मेरी हिम्मत कुछ और बढ़ी. अब मैंने उसके मम्मों पर हल्का सा हाथ फेर दिया, वो उठने लगी और मैं जल्दी से जाकर बिस्तर पे लेट गया.

    वो उठी और मेरी तरफ गांड करके सो गई. मेरा लंड 6 इंच का हो गया. तभी में बाहर आ गया और उसकी ब्रा और पेंटी को चूसने लगा. फिर मैं कमरे से एक गोल मसनद वाला तकिया ले आया और उसमें लंड रगड़ कर उसकी गांड की फीलिंग्स लेने लगा. कुछ ही देर मैंने लंड से माल छोड़ दिया और कमरे में आकर सो गया.

    ऐसा 3 दिन चला, फिर चाचा आ गए और मेरा सोने को जाना बंद हो गया.

    तब से मैंने मोबाइल में अन्तर्वासना पर भाई-बहन सेक्स स्टोरी पढ़ना स्टार्ट किया. उससे मुझे थोड़ी हिम्मत मिलने लगी.

    एक दिन मेरे बुआ के लड़के की शादी थी. सब जा रहे थे, पर शिवानी अपने पेपर के कारण नहीं जा रही थी. मुझे एक प्लान सूझा, मैंने भी पेट खराब होने का बहाना किया और शादी में नहीं गया. उसका पेपर 2 बजे खत्म हुआ, मैं आधे घंटे बाद उसके घर आ गया. वो बैठी थी.. मैंने उससे पेपर के बारे में पूछा. उसने पेपर की बताते हुए मुझसे भी पूछा- तू क्यों नहीं गया?

    वो चाय बनाने किचन में चली गई. मैं भी उसके पीछे चला गया. उसने कॉलेज का ड्रेस ही पहना हुआ था. तभी मुझे लगा कि वो ड्रेस चेंज करने रूम में जाएगी. मैं उसके रूम में गया और मोबाइल कैमरा ऑन करके रख दिया. वो हॉल में वापस आई और बोली कि मैं ड्रेस चेंज करके आती हूँ.. चाय बन रही है.

    वो रूम में चली गई. कोई 5 मिनट में वो बाहर आई और किचन में चली गई. मैं झट से रूम में गया और वीडियो देखने लगा, जिसमें कि वो कपड़े चेंज करते दिख रही थी. उसने ब्रा भी निकाल कर रख दी थी. वो सब देखकर मुझसे रहा नहीं गया. मैं मोबाइल लेकर बाथरूम में गया और उसके नाम से मुठ मारी और बाहर आ गया.

    शिवानी चाय बना रही थी, मैंने किचन में उसको पीछे से देखा और उसकी गांड देखकर मुझसे रहा नहीं गया मेरा लंड तन गया.

    मैंने उसे पीछे से जाकर पकड़ लिया, उसको कुछ भी समझ में नहीं आया.

    मैंने उसे पीछे से पकड़ा और उसके मम्मों को ज़ोर से दबाने लगा. उसने मुझे ज़ोर से धक्का दिया. मैं पीछे हो गया तो वो मुझे गुस्से से देखने लगी.

    ‘ये क्या कर रहे हो..?’ उसने गुस्से से बोला और एक ज़ोर का थप्पड़ मारा. फिर वो वहां से चली गई.

    मैं भी शांत हुआ और उसके पास गया और उससे माफी माँगने लगा. उसने मुझसे कहा कि वो ये सब चाचा को बता देगी.

    मैं डर गया और माफी माँगने लगा. उसने मुझसे कुछ नहीं बोला और चाचा को फोन लगा दिया.

    मैं बहुत डर गया और मैंने उससे कहा कि अगर उसने ऐसा किया तो मैं उसका वीडियो इंटरनेट पर डाल दूँगा और उसे वीडियो दिखाने लगा. उसने वीडियो देखा तो वो मुझे गाली देने लगी और वीडियो डिलीट करने को कहा.

    तभी मेरे दिमाग़ में एक प्लान आया मैंने उससे कहा कि अगर वो मुझे सेक्स करने देगी तो ही मैं वीडियो डिलीट करूँगा.

    उसने मुझे और गाली दी. अब मैं भी उसे धमकी देने लगा और उसे 5 मिनट का वक्त दिया.

    वो ‘प्लीज़..’ बोल के वीडियो डिलीट करने को बोल रही थी. मैंने ‘नहीं..’ बोला और जाने लगा.. तभी वो मान गई.

    अब मैं कुत्ते की तरह उसके मम्मों पे कूद पड़ा और टी-शर्ट के ऊपर से ही उसे दबोच कर बहुत ज़ोर से उसके मम्मों को दबाने लगा.

    आज मेरी 10 साल की इच्छा पूरी हो रही थी. मैंने उसकी टी-शर्ट को फाड़ दिया और मम्मों का रस पीने लगा.

    कुछ पल बाद वो भी अपने मम्मे चुसवाने के मज़े ले रही थी, पर रोने का नाटक कर रही थी.

    तभी मैंने उसकी पेंट निकाली और पेंटी भी खींच कर फाड़ दी. फिर मैं उसकी गांड पर ज़ोर से थप्पड़ मारने लगा.

    मैंने गरम हो गया था और मुझसे रहा नहीं जा रहा था. मैंने अपना लंड बाहर निकाला और उसकी फूली हुई गांड में डाल दिया. वो ज़ोर से चिल्लाने लगी और मैं मज़े से लंड पेलने लगा.

    कुछ देर चोदने के बाद मैंने लंड रस उसकी गांड में छोड़ दिया और मैं झड़ कर उसके ऊपर औंधा हो गया.

    उसने कहा- अब तो वीडियो डिलीट कर दो.

    मुझे तो अभी बहुत कुछ करना था, मैंने उसके न्यूड पिक लेना शुरू किए और लंड उठने की राह देखने लगा. मैंने उससे लंड चूसने को कहा. वो ‘न’ बोली.

    थोड़ा धमकाने के बाद उसने लंड चूसा और मुझे मज़ा आने लगा. मैंने लंड उसके मुँह से निकाल कर सीधे उसकी चुत में डाल दिया जो कि कुंवारी थी.

    वो ज़ोर से चिल्लाने लगी- अहह.. नहीं भाई.. दर्द हो रहा है.

    मैंने कुछ भी नहीं सुना और उसकी चुत फाड़ दी.. जोरों के झटके देने लगा.

    उसकी चुत चुदाई के बाद मैं रुका नहीं और उसे 7 बजे तक आराम से बार-बार चोदता रहा.

    इसके बाद तो वो मुझसे पट गई थी और उसे मैं आज तक चोदता आ रहा हूँ.

    वो मुझसे सॅटिस्फाइड भी है.

    आपको मेरी इस बहन की चुदाई की कहानी पर क्या है.. प्लीज़ लिखिएगा.
     
Loading...
Similar Threads - Bade Bade Chuchon Forum Date
Bade Bade Chuchon Vali Meri Chacheri Behan Hindi Sex Stories Nov 4, 2017
Kunwari Ladki Ke Boobs Chus Chus Ke Bade Kiye Hindi Sex Stories Jun 13, 2020
Lund Ka Milkshake Didi Ko Pilaya Bade Pyar Se Hindi Sex Stories Jun 13, 2020